डिप्रेशन या तनाव से मुक्ति पाने के ज्योतिषी उपाय!

1
238
astrology-mantra

ज्योतिष उपाय

दोस्तों आज के समय में हमारे शरीर को बहुत सी समस्याएं और परेशानियां पकड़ी हुई है। लेकिन आज पारिवारिक व्यक्ति हो या युवा उसे डिप्रेशन यानी तनाव जैसी बीमारियों से जूझना पड़ता है। कई बार तनाव इतना हो जाता है, कि हम पागल होने लगते हैं।

हम तनाव को कम करने के लिए योगा भी करते हैं और कभी-कभी दवाइयों का इस्तेमाल भी करते हैं लेकिन तनाव कम नहीं होता है। तनाव से छुटकारा पाने के लिए बहुत से ऐसे ज्योतिष उपाय हैं। जिनको करने से तनाव से मुक्ति प्राप्त होती।कभी-कभी तो तनाव आपके ग्रहों के अशांत होने से भी उत्पन्न हो जाता है।

आज हम आपको कुछ ऐसे ही ज्योतिषी उपाय बताएँगे जिनसे आपको तनाव से छुटकारा मिल जाएगा!

हनुमान जी की  पूजा करे!

तनाव से छुटकारा पाने के लिए ज्योतिष शास्त्र में सबसे उत्तम उपाय हनुमान जी की पूजा करना है। प्रत्येक मंगलवार को सुबह जल्दी उठकर स्नान करके हनुमान जी आरती और सुंदरकांड का पाठ करें।

प्रत्येक मंगलवार को हनुमान जी के मंदिर जाकर  चमेली के तेल का दीपक जलाएं। मंगलवार के दिन आप उपवास भी रख सकते हैं। ध्यान रहे मंगलवार को कोई नशा ना करें! ये ज्योतिषी उपाय करने से आपको तनाव से जल्दी मुक्ति मिल जाएगी।

रात को सोते समय ये उपाय करें!

हमारे सोने के तरीके का भी हमारे शरीर पर बहुत प्रभाव पड़ता है। आपको तनाव या शारीरिक दर्द जैसी समस्या है, तो रात को सोते समय अपना सर पूर्व की दिशा में करके और तकिए के नीचे लोहे का चाकू लेकर सोएं।

इससे बुरी शक्तियां और नकारात्मक उर्जा आपके शरीर में प्रवेश नहीं कर पाती है। यह उपाय करने से आप सुबह सकारात्मक ऊर्जा के साथ जागते हैं। साथ ही पूरे दिन आपको तनाव महसूस नहीं होता है।

कृष्ण अमावस्या के दिन ये उपाय करें!

तनाव से मुक्ति के लिए कृष्ण अमावस्या को आपको एक टोटका करना पड़ेगा। आपको नीम या पीपल के पौधे को लेकर तालाब या नदी किनारे लगाना होगा।

इस पौधे को रात में ही लगाना होगा और पौधे को लगाते समय “ॐ नमो: भगवते: रुद्राय: नमः ”  मंत्र का 21 बार जाप करना होगा। पौधे को लगाने के बाद जब तक आप घर ना पहुंच जाए तब तक पीछे मुड़कर नहीं देखना होगा।

सूर्य भगवान की साधना करें।

तनाव से मुक्ति पाने के लिए आपको लगातार 31 रविवार सूर्य भगवान की पूजा करनी होगी। प्रातः उठते ही स्नान करके भगवान सूर्य के सामने इस सूर्य मंत्र

ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रौं स: सूर्याय: नम:

ऊँ ह्रीं ह्रीं सूर्याय नम:

का 21 बार तुलसी के माला लिए हुए जाप करना होगा। इसके बाद भगवान सूर्य को तिल के तेल का दीपक जलाएं। इस उपाय को मात्र रविवार को ही करना है।

अपने पितरों को तर्पण करें!

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर आपको शारीरिक दर्द या तनाव रहता है, तो इसका अर्थ यह भी होता है कि आप के पूर्वज आपसे ख़ुश नहीं है। आपके पूर्वज आपको शारीरिक दर्द और तनाव प्रदान करते हैं।

अगर आप अपने पितरों को खुश करते हैं, तो आपको को कभी परेशान नहीं करते हैं। तनाव से मुक्ति के साथ-साथ धनार्जन में भी इनका आशीर्वाद सहायक होता है। इस उपाय को करने के लिए  अमावस्या के दिन  पंडित की सहायता से अपने पूर्वजों को तर्पण देवें। यह उपाय तनाव से मुक्ति पाने के लिए एक अचूक उपाय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here