CSC के माध्यम से किस प्रकार आधार कार्ड में परिवर्तन!

0
222
CSC-Aadhar-Card-Update

CSC के माध्यम से किस प्रकार आधार कार्ड में परिवर्तन करना चाहते है तो आगे पढ़े

आधार कार्ड अब हमारे डॉक्यूमेंट में सबसे इम्पोर्टेन्ट है क्यों  की आधार कार्ड अब हर डॉक्यूमेंट में महत्वपूर्ण हो चुका है। किसी भी जगह कोई दस्तावेज़ में सबसे पहले आधार कार्ड की मांग की जाती है। इस लिए इस में कोई भी त्रुटि होती है तो उसको सही करना बहुत जरुरी है। अब इस को सही करने के लिए CSC सेंटर बनाये गए है जहा आधार कार्ड से संबंधित कोई भी समस्या का समाधान पा सकते है।

देशव्यापी तालाबंदी के कारण आधार अपडेशन और नामांकन केंद्र बंद हैं। यदि आप अपने आधार कार्ड जैसे मोबाइल नंबर , पता , ईमेल आईडी आदि में विवरण अपडेट करना चाहते हैं , तो एक वैकल्पिक मार्ग है। आप अपने आधार में विवरण को अद्यतन करने के लिए निकटतम कॉमन सर्विस सेंटर ( सीएससी ) पर जा सकते हैं।

मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री (एचआरडी), संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी, संजय धोत्रे ने एक ट्वीट के माध्यम से घोषणा की कि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आम सेवा केंद्रों को आधार अपडेशन सेवाओं की पेशकश करने की अनुमति दी है।

लगभग 20,000 ऐसे सामान्य सेवा केंद्र अब नागरिकों को आधार अपडेशन संबंधित सेवाएं प्रदान करने में सक्षम होंगे

लॉकडाउन की शुरुआत के बाद से, कई लोग आधिकारिक आधार ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए पूछ रहे हैं कि कैसे सेवाओं का लाभ उठाने के लिए या आधार से संबंधित केवाईसी प्रक्रिया से गुजरने के लिए अपने आधार में विवरण अपडेट कर सकते हैं।

कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) क्या हैं?

कॉमन सर्विस सेंटर  ( CSC ) या सीएससी  देश में आवश्यक जनोपयोगी सेवाओं, सामाजिक कल्याण योजनाओं, स्वास्थ्य सेवा, वित्तीय, शिक्षा आदि के सुगम बिंदु हैं। एक व्यक्ति यहां क्लिक करके निकटतम सामान्य सेवा केंद्र का पता लगा सकता है: https://locator.csccloud.in/ यहां, आपको उस राज्य में प्रवेश करना होगा जहां आप निवास कर रहे हैं, जिले और उपजिला विवरण।

आधार नामांकन या अपडेशन केंद्रों पर भी विवरण अपडेट करने के लिए एक ही राशि देय है।

अब हम को आधार कार्ड में जो भी त्रुटि को सही करना चाहते है उस से संबंधित दस्तावेज़ चाहिए होंगे

जैसे की यही आप पहले किसी और जगह रहा करते थे और आपको कही और शिफ्ट होना पड़ा तो आपको आपने आधार कार्ड में पता बदलवाना पड़ेगा इस के लिए आपके पास नया पता जो आपका अभी है। उस से संबंधित दस्तावेज चाहिए होंगे जो यहाँ साबित कर सके की आपका पता बदल गया है। जैसे की आपको आपके नये पते का बिजली का बिल या कोई और दस्तावेज़ चाहिए पड़ेगा।

अब बात करते है की यदि आधार कार्ड बनते समय आपके नाम में पूरा नाम नहीं आया हो तो आपको CSC सेंटर जा कर उनको कोई ऐसा डॉक्यूमेंट देना होगा जो आपके नाम को पूरा करने में सहायक हो जैसे की मन जाये मेरा नाम सूरज चौरसिया है।

और मेरे आधार कार्ड में सिर्फ सूरज लिख कर आया है और उस में चौरसिया जुड़वाना हो तो मुझे कोई ऐसा डॉक्यूमेंट देना होगा जिस में मेरा पूरा नाम लिखा हो जिस से यहाँ साबित हो सके की ये आधार कार्ड मेरा है और इस में चौरसिया भी जुड़ना है।

अब मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से जुड़वाना है तो हमको आधार कार्ड को बनवाते समय यहाँ ध्यान देना है की उनको सही मोबाइल नंबर दे क्यों की जब भी हम को आधार कार्ड से जुडी कोई जानकारी में करेक्शन।

करना हो तो मोबाइल नंबर और OTP के माध्यम से आधार कार्ड में कोई सुधर करना आसान हो जायेगा

इस के अलावा भी आधार कार्ड में मोबाइल नंबर का जुड़ा होना इस लिए जरूरी है क्यों की कई लोग जब कोई सहकारी नौकरी के लिए आवेदन करते है तो उनका आधार कार्ड का वेरिफिकेशन करने के लिए उनके मोबाइल नंबर पर OTP आता है।

यदि ऐसा हो तो उनको फिंगर प्रिंट का सहारा लेना पड़ता है और कई बार ऐसा होता है की बचपन में बना हुआ आधार कार्ड बाध्य होता है तो हमारे फिंगर प्रिंट और बड़े होने के बाद फिंगर प्रिंट में अंतर जाता है। थोड़ा क्यों की बड़े होने के बाद फिंगर प्रिंट में थोड़ा सा गैप जाता है जिस के कारण फॉर्म भरने में थोड़ी समस्या आती है।

इस से ज्यादा जानकारी के लिए आपको आपके पास के CSC सेंटर जाना होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here