बैंक में नौकरी के लिए कौन से पद पर करे अप्लाई

4
225
Bank-Jobs

क्या आप भी बैंक में नौकरी के लिए अप्लाई करना चाहते है?

लेकिन बैंक में आप किन पद पर काम कर सकते है, या आप किस पद के लिए qualified है? क्या इस सब की जानकारी आपके पास है। बैंक में नौकरी के लिए अप्लाई करने से पहले हर एक बात की सही जानकारी आपके पास होनी चाहिए। सबसे पहले आपको बैंक में कौन से कौन से पद उपस्थित है, यह जानना जरूरी है। साथ ही उस विशिष्ट पद पर अप्लाई करने के लिए आपको क्या करना चाहिए, इन सारी बातों की जानकारी हम आपको आज देने जा रहे है।

क्या बैंकिंग क्षेत्र में करिअर बनाया जा सकता है?

बैंकिंग क्षेत्र लोगों के लिए अर्थव्यवस्था की समझ विकसित करने का मार्ग प्रशस्त करता है और विश्व स्तर पर एक उत्कृष्ट अवसर प्रदान करता है। यह बाजार में विभिन्न चुनौतियों की पहचान करने का मार्ग प्रशस्त करता है। भारत में बैंकों के कई सारे विभिन्न प्रकार है। जैसे कि COMMERCIAL BANK, PRIVATE SECTOR BANK, PUBLIC SECTOR BANK, REGIONAL BANK, CO-OPERATIVE BANK, CO-OPERATIVE SOCIETIES, INVESTMENT BANKS AND SPECAILIZED BANKS. अगर आप बैंकिंग क्षेत्र में अपना करिअर बनाना चाहते है, तो आप में धैर्य होना आवश्यक है। साथ ही आपको अकाउंट का ज्ञान होना बेहद आवश्यक है।

बैंक में नौकरी के लिए उपलब्ध पद:

The Internal Bank Auditor:

सभी बैंकों में यह सबसे प्रतिष्ठित पदों में से एक माना जाता है। हालांकि इस पद की तनख्वाह भी अच्छी है। ऑडिटर बैंक के सभी खातों की शेष राशि, जमा की हुई राशि, निकाली हुई राशि की जांच करता है। बहुत सारी संगठनों में इन सारे कागजों की जांच करने के लिए बाहर से ऑडिटर को बुलाया जाता है। लेकिन हर एक बैंक में इंटरनल ऑडिटर की जरूरत होती है।

The Bank Manager:

एक ही बैंक की अनेक शाखाएँ होती है, साथ ही एक ही शहर में बैंक की अनेक शाखाएं भी होती है। जब बात HDFC या SBI जैसे बैंकों की आती है, तो यह व्यापक रूप से Access की जाती है। हर शाखा का अपना एक परिचालन तंत्र होता है, जिसे किसी के देखरेख और रखरखाव की आवश्यकता होती है। इस कार्य को विशेष रूप से संभालने वाले व्यक्ति को बैंक मैनेजर कहाँ जाता है। बैंक में सबसे महत्वपूर्ण और उच्च पद बैंक मैनेजर का होता है। इस पद को प्रमोशन द्वारा ही हासिल किया जा सकता है। आपके अनुभव और प्रदर्शन द्वारा ही आपको पदोन्नति मिल सकती है।

The Marketing Representative:

बैंक के मार्केटिंग रेप्रेसेंटिटिव का कार्य होता है, बैंक के ग्राहकों को बढ़ाना। किसी भी कार्य के लिए आपको बैंक में खाता होना कितना जरूरी है, अगर कोई भी विशेष योजना बैंक द्वारा दी जा रही है, तो उसके लिए उस विशेष बैंक में खाता होना आपके लिए क्यों आवश्यक है, इस सब की जानकारी देकर बैंक के ग्राहकों को बढ़ाने का कार्य मार्केटिंग रेप्रेसेंटिटिव करता है। जिस बैंक में ज्यादा खाते होते है, उस बैंक को विश्वसनीय माना जाता है। साथ ही म्यूच्यूअल फण्ड जैसी योजनाओं के प्रति ग्राहकों को आकर्षित कर, इन्हें बेचने योग्य बनाने का कार्य मार्केटिंग रीप्रेसेन्टिटीव का होता है।

The Bank Teller:

किसी भी बैंक में प्रवेश करने के बाद अगर सबसे पहले आप किसी के पास जाते है, तो वह है बैंक टेलर। बैंक टेलर बैंक में आने वाले ग्राहकों को उनके द्वारा पूछे जाने वाले हर प्रश्नों की उचित जानकारी उन्हें देता है। बैंक टेलर का व्यवहार ग्राहकों के मन में बैंक की छवि को स्थापित करने के लिए महत्वपूर्ण साबित होता है। बैंक टेलर का व्यवहार शांतिपूर्ण, मैत्रिपुर्व और धैर्यपूर्वक होना आवश्यक है। ग्राहकों की हर मांग को उचित तरीके से सुलझाना ही बैंक टेलर का कार्य है।

The DPO OR The Bank data Processing Officer:

दिन के अंत में बैंक की सारी प्रणालियों को अपडेट करने का कार्य डेटा प्रोसेसिंग अफसर का होता है। बैंक का सारा आवश्यक डेटा दर्ज करना, इंटरनेट बैंकिंग प्रणालियों को अपडेट करने का मुख्य कार्य बैंक डेटा प्रोसेसिंग ऑफिसर द्वारा किया जाता है।

The Bank Loan Officer:

जहाँ पर बैंक आती है, वहाँ पर लोन की याद न आए ऐसा हो ही नहीं सकता है। बैंक में किए जानी वाली नौकरियों में सबसे महत्वपूर्ण कार्य होता है, लोन अफसर का। अक्सर व्यक्तिगत कारणों के लिए, मेडिकल इमरजेंसी के लिए, घर या कोई वाहन खरीदने के लिए हम और आप बैंक से लोन लेते है। इस लोन के प्रकारों की जानकारी ग्राहकों को देना, ग्राहकों द्वारा लोन के लिए अप्लाई करने के बाद उसे Accept या Reject करना, इसकी मुख्य जिम्मेदारी लोन अफसर पर होती है। लोन बैंक के उत्पादन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, क्योंकि लोन से ब्याज का भुगतान किया जाता है।

बैंक में नौकरी के लिए अप्लाई कैसे करें।

सामान्य रूप से बैंक में नौकरी करने के लिए, आपको Entrance Exam देनी पड़ती है। बैंक में तीन ऐसे पद है, जिनके लिए पहले आपको Exam देनी पड़ती है, और एग्जाम के रिजल्ट के आधार पर आपको इस पद पर नियुक्त किया जाता है।

Probationary Officer – SBI द्वारा अपनी भरती और IBPS के लिए प्रवेश परीक्षा के आयोजन किया जाता है। इस परीक्षा को देने के लिए आपको 12 वीं पास होना आवश्यक है। साथ ही आपकी उम्र 21 से 30 तक ही होनी चाहिए।

Specialist Officer – SPECAILIST OFFICER बनने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया PROBATIONARY OFFICER की तरह ही है। लेकिन इस पद पर अप्लाई करने के लिए आपको प्रिलिमिनरी और मेन्स ऐसे दो एग्जाम देने पड़ते है। इसके बाद आपको एक ग्रुप इंटरव्यू और एक फाइनल इंटरव्यू भी देना पड़ता है।

Clerical Posts – इस पद पर अप्लाई करने के लिए आपको 12 वीं पास होने के साथ कि उम्र की मर्यादा 18 से 30 तक कि है। बैंक में कई तरह के पद होते है और हर एक पद पर नियुक्त होने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया और उम्र की मर्यादा साथ ही अप्लाई करने का तरीका अलग-अलग होता है।

आजकल बहुत सारे बैंक्स एक अच्छा पैकेज प्रदान करते है, साथ ही नौकरी में आपके प्रदर्शन और अनुभव द्वारा प्रमोशन में दिया जाता है। अखिल भारतीय भरती परीक्षा के परिणामों के आधार पर वकील, इंजीनियर, डॉक्टर जैसे पेशे वरों की नियुक्ति भी सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के मामले में की जाती है। भविष्य में सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंक करीबन 7 लाख लोगों रोजगार भी दे सकते है।

रेलवे, पुलिस समेत कई विभागों में भर्तियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here