पीएम योजना- किसानों को मिलेंगे 6000 रूपये/प्रति वर्ष

1
192
PM-Kisan-Samman-Nidhi

पीएम किसान सम्मान निधि योजना

पीएम-किसान योजना एक सरकारी योजना है, जिसके माध्यम से सभी छोटे और सीमांत किसानों को न्यूनतम आय सहायता के रूप में प्रति वर्ष 6,000 रुपये तक मिलेंगे। 75,000 करोड़ की इस योजना का लक्ष्य 125 मिलियन किसानों को शामिल करना है, भले ही भारत में उनकी भूमि के आकार बड़ा हों या छोटा|

पीएम-किसान योजना कब लागू हुई?

पीएम किसान योजना 1 दिसंबर, 2018 से लागू हुई। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने शुरू किया था। केंद्र सरकार ने लघु और सीमांत किसानों (SMFs) के लिए इस योजना को शुरू किया जिसके अंतर्गत सरकार द्वारा हर लाभार्थी किसान को सालाना 6000 रुपये की राशि सीधे बैंक खाते में जमा कराई जाती हैं|। यह राशि 2000 रूपये प्रत्येक किस्त के हिसाब से किसानो के खातों में तीन किश्तों में जमा होती हैं| 1 फरवरी 2019 को भारत के अंतरिम केंद्रीय बजट के दौरान पीयूष गोयल द्वारा इस पहल की घोषणा की गई थी। इस योजना पर प्रति वर्ष 75,000 करोड़ रूपये खर्च करने का प्रयोजन किया गया हैं |

पीएम किसान योजना के लिए कौन पात्र है?

  • इस योजना के तहत खेती करने वाले किसानों के परिवारों को उनके नाम पर खेती योग्य भूमि के लिए आवेदन कर सकते हैं|
  • शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों के किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं|
  • छोटे और सीमांत किसान परिवार

पीएम किसान योजना के लिए कौन पात्र नहीं है?

  • संस्थागत भू-स्वामी
  • राज्य / केंद्र सरकार के साथ ही सार्वजनिक उपक्रमों और सरकारी स्वायत्त निकायों के वर्तमान या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी।
  • उच्च आर्थिक स्थिति वाले लाभार्थी पात्र नहीं हैं।
  • जो आयकर देते हैं
  • संवैधानिक पदों पर आसीन किसान परिवार
  • डॉक्टर, इंजीनियर और वकील जैसे पेशेवर
  • 10,000 रुपये से अधिक की मासिक पेंशन के साथ सेवानिवृत्त पेंशनर्स

पीएम किसान योजना के लिए पंजीकरण कैसे करें

  • किसानों को स्थानीय राजस्व अधिकारी (पटवारी) या एक नोडल अधिकारी (राज्य सरकार द्वारा नामित) से संपर्क करना होगा|
  • कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) को फीस के भुगतान पर योजना के लिए किसानों का पंजीकरण करने के लिए अधिकृत किया गया है|

ऑनलाइन पंजीकरण-किसानों का कोना

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट – pmkisan.gov.in पर, ‘किसानों का कोना’ नामक एक खंड है। किसान पोर्टल में किसान कॉर्नर के माध्यम से अपना पंजीकरण करा सकते हैं। वे पीएम-किसान डेटाबेस में नाम भी संपादित कर सकते हैं और अपने भुगतान की स्थिति जान सकते हैं। इसके लिए निम्न स्टेप्स फॉलो करे:

  • चरण 1पीएम-किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट -pmkisan.gov.in/ पर जाएं।
  • चरण 2– होमपेज पर नजर आ रहे “किसान कॉर्नर” पेज को खोलने के लिए इसके टैब पर क्लिक करें। ड्रॉपडाउन सूची में दिख रहे विभिन्न लिंको में से “नए किसान पंजीकरण” लिंक का चयन करें।
  • चरण 3– आधार संख्या और सेक्युर्टी टेक्स्ट दर्ज करें और “जारी रखने के लिए यहां क्लिक करें” टैब को दबाये|। आपको एक पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा।
  • चरण 4 – उम्मीदवारों को संबंधित क्षेत्रों में किसान के सभी व्यक्तिगत विवरण भरने होंगे। अन्त में, उन्हें “सेव” बटन पर क्लिक करना होगा। इन सब औपचारिकताओं के बाद पंजीकरण प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • चरण 5– पंजीकरण के पूर्ण होने पर, उम्मीदवारों को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक पुष्टिकरण एसएमएस भी प्राप्त होगा।
  • चरण 6– यदि आपको इसमें कुछ एडिट करना हैं, तो होमपेज मेनू पर किसान कॉर्नर खोजें और एडिट विवरण विवरण विकल्प पर क्लिक करें।
  • चरण 7– अब यहां अपना आधार नंबर डालें।
  • चरण 8– इसके बाद एक कैप्चा कोड डालें
  • चरण 9– सबमिट बटन पर क्लिक करें।

नोट – यदि आपका नाम ही गलत है तो आप इसे ऑनलाइन सुधार सकेंगे। यदि कोई अन्य गलती है, तो आपको कृषि विभाग से संपर्क करना होगा।

आवश्यक दस्तावेज

  • पीएम किसान योजना के तहत पंजीकरण करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों में आधार अनिवार्य है।
  • आधार के अलावा, नागरिकता प्रमाण पत्र, जमीन के कागजात और बैंक खाते का विवरण संबंधित अधिकारियों को जमा करना होगा।

उद्देश्य

  • लघु और सीमांत किसानों (SMFs) की आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से, सरकार ने चालू वित्तीय वर्ष में “प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-Kisan)” नामक योजना शुरू की।
  • पीएम-किसान योजना का लक्ष्य विभिन्न फसलों की खरीद में SMFs की वित्तीय जरूरतों को पूरा करना हैं, ताकि प्रत्येक फसल चक्र के अंत में प्रत्याशित कृषि आय के साथ उच्च गुणवत्ता वाले फसलों की उचित पैदावार सुनिश्चित हो सके।
  • यह किसानो को इस तरह के खर्चों को पूरा करने के लिए साहूकारों के चंगुल में पड़ने से भी बचाएगा साथ ही कृषि गतिविधियों में उनकी निरंतरता सुनिश्चित करेगा|

बैंक खाता को आधार से लिंक कैसे करे

प्रधानमंत्री किसान निधि योजना के तहत लाभार्थियों को पैसा तब तक नहीं मिलेंगा जब तक कि उनके पास प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लिंक ना हों|
देश के लाभार्थी किसान, ‘किसान सम्मान निधि योजना’ खाता आधार से लिंक करने के लिए निम्न प्रक्रियाओं का पालन करे:-

  • सबसे पहले लाभार्थी को अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी लेकर बैंक शाखा में जाना होगा जहा उसने अपना बैंक अकाउंट खुलवा रखा हैं।
  • बैंक में आपको बैंककर्मी से कहना होगा की आपको अपना आधार नंबर अपने खाते से जोड़ना हैं|
  • बैंककर्मी आपसे आपके आधार कार्ड की फोटो कॉपी पर आपके हस्ताक्षर लेगा और अपने पास जमा कर लेगा| कुछ ही दिनों के अंदर वह कर्मचारी आपके खाते को आधार से लिंक कर देगा ।

Bank A/C को आधार से ऑनलाइन कैसे लिंक करे?

जिन किसानो के पास नेट बैंकिंग की सुविधा उपलब्ध हैं वह ऑनलाइन तरीके से निम्न प्रक्रिया के तहत अपना बैंक अकाउंट आधार से लिंक करवा सकते हैं:-

  • सर्वप्रथम लाभार्थियों को जिस बैंक में आपका बैंक अकाउंट है, उस बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा और अपना नेट बैंकिंग लॉग इन करना होगा ।
  • इसके बाद आपको इनफार्मेशन एंड सर्विस का विकल्प दिखाई देगा, जिसमे आपको आधार नंबर का विकल्प दिखाई देगा, जिस पर आपको अपडेट आधार नंबर पर क्लिक करना होगा और वहा अपना आधार नंबर डालना होगा|
  • आधार नंबर डालने के बाद आपको अपना खाता नंबर और मोबाइल नंबर डालना हैं और इस तरह से आपका आधार नंबर बैंक से लिंक हो जाएगा|
  • आधार कार्ड जैसे ही आपके खाते से जुड़ेगा आपके मोबाइल पर एक पुष्टीकरण का मैसेज आ जाएगा|

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना किसानों के लिए सबसे अच्छी सरकारी योजनाओं में से एक है। अब तक नौ करोड़ से अधिक किसानों को इस सरकारी योजना का लाभ मिल चुका है।

पीएम किसान योजना के लिए पंजीकरण कैसे करें?

पीएम किसान योजना में पंजीकरण के लिए आपको मात्र इस लिंक
https://pmkisan.gov.in/registrationform.aspx पर क्लिक करके अपने आधार कार्ड नंबर और कैप्चा कोड लगाने होंगे। जिसके बाद पीएम किसान योजना का पंजीकरण फॉर्म उपलब्ध होगा। इस फॉर्म को भरकर सबमिट कर दें, आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा

पीएम किसान के लिए कौन-कौन योग्य है?

पीएम किसान योजना के लिए देश के सभी 14 करोड़ किसान इस योजना के लिए योग्य है। लेकिन जिन किसानों को 10 हज़ार रुपए से ज्यादा पेंशन प्राप्त होती है , जिन किसानों के पास किराए की भूमि है, किसान के परिवार के किसी सदस्य के पास सरकारी नौकरी है । वो किसान इस योजना के योग्य नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here