किसानों को मिलेगा 3000 रुपये प्रतिमाह पेंशन!

0
184
pm-kisan

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना

केंद्र सरकार ने 10 अगस्त 2019 से ऑनलाइन प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का आवेदन प्रस्तुत किया है| इस योजना के अंतर्गत किसानो को पेंशन प्राप्त होगी व अन्य सुविधाए भी इस योजना के अंतर्गत मिलेंगी |

इस योजना को किसान पेंशन योजना भी कह सकते है| पीएम किसान मानधन योजना 2019 के लिए सरकार ने किसी तरह का पोर्टल लांच नहीं किया है,पर केंद्र सरकार ने बताया है कि ऑनलाइन आवेदन और पंजीकरण फॉर्म सामान्य सेवा केन्द्रों पर भरें जायेंगे |

योजना के मुख्य उद्देश्य :-

  • प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना या मानधन योजना के अंतर्गत किसानो को 3000 रुपये प्रतिमाह देने का प्रस्ताव दिया गया है| इसका लाभ उन किसानों को मिलेगा जिन्होंने इस योजना में पंजीकरण करवा रखा हैं|
  • इस योजना के अंतर्गत मोदी सरकार पहले 3 वर्षो में लगभग 5 करोड़ लाभार्थियों को कवर करेगी|
  • इस सरकारी योजना का ऐलान वित् मंत्री निर्मला सीतारमण ने देश का बजट पेश करते समय करी थी|
  • बजट 2019-20 के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के लिए 900 करोड़ रुपये भी आवंटित किये थे |

पीएम किसान मानधन योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन :-

पीएम किसान मानधन योजना एक तरह से किसानों के लिए उनकी वृद्धावस्था में आर्थिक सहायता देने वाली योजना है|

जिसके लिए नीचे दिये गए स्टेप्स को फ़ॉलो करके खुद से ही आधिकारिक पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म भर सकते है :-

  • आवेदक किसान को सबसे पहले प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना की आधिकारिक पोर्टल www.pmkmy.gov.in पर जाना है |
  • वेबसाइट के में पेज पर जाने के बाद दाएँ तरफ दिये गए “click here to apply now” पर क्लीकल करना है|
  • जिसके बाद आपको खुद से पंजीकरण करने के लिए “Self Enrollment” के आप्शन पर क्लिक करना होगा |
  • आगे अपना मोबाइल नंबर डाल कर बढ़ना है, जिसके बाद प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा जहां पर आपको पूछी गई सभी जानकारी भरनी है |

इसके अलावा अगर किसी उम्मीदवार को खुद से ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने में परेशानी हो रही हो तो वे सीएससी केंद्र से जा कर भी ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते है | जिसकी जानकारी नीचे दी गई है|

पीएम किसान मानधन योजना सीएससी से ऑनलाइन आवेदन :-

पीएम किसान मानधन योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने के लिए किसानों को अपने नजदीकी सामान्य सेवा केंद्र पर जाना होगा|

  • जहां पर किसान को अपना पूरा विवरण जैसे की उसके पास कितने एकड़ ज़मीन है, सालाना आय कितनी है, परिवार में कितने सदस्य हैआदि का विवरण देना होगा |
  • सभी किसान यह ध्यान रखें कि उनको प्रति माह 3000 रुपये पेंशन प्राप्त करने के लिए हर महीने प्रीमियम के रूप में भी देना होगा |
  • जैसे कि किसान प्रति माह 100 रुपये प्रीमियम राशी 40 साल की उम्र होने तक जमा करता है तो उसको 60 वर्ष की आयु प्राप्त होने पर 3000 प्रतिमाह मिलेंगे |
  • जितना प्रीमियम किसान जमा करेगा उतना ही प्रीमियम सरकार के माध्यम से भी किया जायेगा|
  • किसान के लिए प्रीमियम राशि 55 रुपये महीने से 200 रुपये महीने के बीच है |

पीएम किसान मानधन योजना –

पात्रता/योग्यता

पीएम किसान मानधन योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी किसान नीचे बताई गई योग्यता को पूर्ण करता हो तब ही उसे इस योजना का लाभ प्रत्यक्ष रूप से मिल सकेगा |

  • किसान की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए |
  • किसान के पास 5 एकड़ या इससे अधिक भूमि नहीं होनी चाहिए |
  • आवेदक के पास आधार कार्ड होना चाहिए |
  • आवेदक के पास बचत बैंक खता होना चाहिए |
  • उम्मीदवार आयकर दाता नहीं होना चाहिए |
  • पंजीकरण के लिए खसरा – खतौनी की नक़ल ले जानी होगी |
  • पंजीकरण के लिए किसान को अलग से कोई फीस नहीं देनी होगी |
  • पंजीकरण के दौरान किसान का किसान पेंशन यूनिक नंबर और पेंशन कार्ड बनाया जायेगा|

पीएम किसान मानधन योजना के लाभ :-

  • अगर किसी कारण वश लाभार्थी किसान की मृत्यु हो जाती है तो पेंशन की राशी उसकी पत्नी या पति को मिलेगी |
  • भारतीय जीवन बीमा निगम के पेंशन निधि प्रबंधक पेंशन भुगतान के लिए जिम्मेदार होगा |
  • इसके अलावा पति या पत्नी दोनों अलग – अलग भी प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2019 के लिए पंजीकरण कर सकते है |
  • पीएम किसान मानधन योजना में जितना योगदान किसान का होगा , उसी के बराबर योगदान सरकार भी पीएम किसान अकाउंट में करेगी |
  • अगर किसान का योगदान 55 रुपये है तो सरकार भी 55 रुपये का योगदान करेगी |
  • पीएम किसान मानधन योजना के तहत 60 की उम्र पूरी होने के बाद खाताधारक को 3000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी | जो सालाना 36000 होती है|
  • यह योजना निश्चित ही उन किसानों के लिए कारगर साबित हो सकती है , जो सिर्फ और सिर्फ खेती-बाड़ी के भरोसे है
  • इस पेंशन कोष का प्रबंधन भारतीय जीवन बीमा निगम कर रहा है, भारतीय जीवन बीमा निगम ही किसानों के पेंशन फण्ड को मैनेज करेगा |

यदि योजना बीच में छोड़ी :-

  • अगर कोई किसान बीच में योजना छोड़ना चाहता है तो उसका पैसा नहीं डूबेगा |किसान के योजना छोड़ने तक जो पैसा जमा किये होंगे उस पर बैंक के सेविंग अकाउंट के बराबर का ब्याज मिलेगा | अगर पॉलिसी होल्डर किसान की मौत हो गई तो उसकी पत्नी को या पति को 50 फीसदी रकम मिलती रहेगी |
  • इन किसानों को नहीं मिलेगा लाभ :- नेशनल पेंशन स्कीम, कर्मचारी राज्य बीमा निगम स्कीम,कर्मचारी भविष्य निधि स्कीम, जैसी किसी अन्य सामाजिक सुरक्षा योजना के दायरे में शामिल लघु और सीमान्त किसान नहीं कर पाएंगे |
  • वे किसान जिन्होंने श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा संचालित प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना के लिए विकल्प चुना है वह भी इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते है |
  • वह किसान जिन्होंने श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा संचालित प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान धन योजना के लिए विकल्प चुना है |
  • हम इस बात से भली-भांति परिचित हैं कि भारत की अर्थव्यवस्था कृषि पर निर्भर करती हैं और कृषि का भविष्य किसानों पर निर्भर करता हैं| यदि हमारे किसान भाई स्वस्थ और चिंता मुक्त रहेंगे तो इसमें हम सब की तरक्की हैं|
  • मानना पड़ेगा हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की सोच को जिन्होने वास्तव में किसानों की भलाई के लिए इतना अच्छा सोचा| भारतीय किसान प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना का लाभ उठा सकते है | इस योजना से उन गरीब किसानो की आर्थिक मदद हो सकती है जिनकी जीविका खेती-बाड़ी ही है |

Read More – पीएम योजना- किसानों को मिलेंगे 6000 रूपये/प्रति वर्ष

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here