प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

0
396
Pmgky

Pmgky प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना :

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना : गरीबी एक अभिश्राप है जो किसी व्यक्ति के जीवन के आज के साथ साथ उसके आने वाले कल को भी प्रभावित करता है| सन 1971 में पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने गरीबी हटाओ का नारा दिया| आगे चल कर आने वाली सरकारों ने भी इसी सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ काम किया| परन्तु आज भी गरीबी देश कि सबसे बड़ी समस्याओ में से एक है |

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जब सत्ता में आये तब से उनका एक नारा है “सबका साथ सबका विकास”| सबका विकास तब तक संभव नहीं है, जब तक कि गरीबी को जड़ से ख़त्म नहीं किया जाए और गरीबो के लिए कुछ और बेहतर किया जाए| इसी दिशा में एक योजना चलाई गई जिसका नाम है “प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना” |

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत दिसम्बर 2016 में हुई जिसकी अवधी को मार्च 2017 तक रखा गया जिसका उद्देश्य यह था की गरीब खाता धारको के खातो में वह मुद्रा जमा कराइ जा सके जो भ्रष्ट लोगो ने गलत तरीको से अपने पास रखा है| इस योजना के सहयोगी के रूप में विमुद्रीकरण कुछ हद तक लाभदायक रही |

कोरोना के संकट काल में गरीब कल्याण योजना का महत्व
कोरोना वायरस के महामारी के चलते प्रधानमंत्री जी ने पूरे देश में तालाबंदी का ऐलान किया हैं। इसके चलते सभी कंपनी, दुकानें और अन्य सभी कार्यों को बंद करना पड़ा हैं

इस फैसले के बाद, गरीब लोगों की जिंदगी, जो रोज कार्य करते हैं और खाते हैं, उन की जिंदगी थम सी गयी हैं। प्रधानमंत्री जी ने गरिब कल्याण योजना के अंतर्गत ही बहुत सारे नई घोषणाएँ करके उन सभी कमजोर तबके के लोगों की मदद की योजना बनाई हैं, जो इस आपदा से अधिक प्रभावित हुए हैं|

पीएम गरीब कल्याण योज़ना की नई घोषणा

12 मई 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर पैकेज की घोषणा की गयी है और इस 20 लाख करोड़ रूपये के राहत पैकेज के दूसरे फेज की घोषणा वित् मंत्री निर्मला सीतारमण के द्वारा की गयी|

कोरोना महामारी के दौरान प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत विशेष घोषणाएँ

  • गरीब कल्याण अन्न योजना :- निर्मला सीतारमण जी ने गरीब कल्याण अन्न योजना को लागू किया हैं, जिसके तहत देश के करीब 80 करोड़ लोगों को लाभ प्राप्त होगा| इस योजना के तहत ऐसे प्रत्येक व्यक्ति को मिलने वाले 5 किलो अनाज के अलावा अगले 3 महीने तक हर महीने अतिरिक्त 5 किलो चावल या गेंहू मुफ्त में मिलेगा|
  • योजना के घटक :- इस योजना को 2 घटकों में लागू कर गरीबों को सहायता दी जाएगी| इस योजना के पहले घटक में गरीबों को डीबीटी के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी और दूसरे घटक के रूप में लोगों को खाद्य सुरक्षा के रूप में सहायता प्रदान की जाएगी, ताकि उन्हें तत्काल सहायता प्रदान हो सके|
  • चिकित्सा बीमा :- वित्त मंत्री जी ने कॉविड 19 के साथ फ्रंटलाइन में लड़ने वाले लोगों के लिए प्रत्येक के लिए 50 लाख रूपये का चिकित्सा बीमा देने की घोषणा की है| इसमें पैरामेडिक्स, नर्स, आशा वर्कर्स और अन्य लोग जो कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में लोगों की सेवा कर रहे हैं, उन्हें शामिल किया जायेगा| इस योजना से लगभग 22 लाख लोगों को यह चिकित्सा बीमा का लाभ प्राप्त होगा|
  • पीएम – किसान योजना के तहत लाभ :- वित्त मंत्री के कोरोना वायरस राहत पैकेज में “प्रधानमंत्री किसान योजना” के तहत लगभग 8.69 करोड़ किसानों के बैंक खाते में डीबीटी के माध्यम से अप्रैल के पहले सप्ताह में ही 2000 रूपये की पहली क़िस्त जमा कराने की घोषणा की हैं|
  • मनरेगा मजदूरों के वेतन में वृद्धि :- केंद्र सरकार द्वारा प्रत्येक मनरेगा मजदूरों के लिए 20 रूपये की बढ़ोत्तरी को मंजूरी दे दी गई है| पहले मनरेगा मजदूरों को 182 रूपये का वेतन दिया जाता था, जोकि अब 202 रूपये कर दिया गया है|
  • बुजुर्ग, विधवा एवं विकलांगों को छूट :- इस योजना के तहत विधवा, विकलांग एवं 60 साल से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार 2 किस्तों में 1000 रूपये की छूट प्रदान करेगी| इससे लगभग 3 करोड़ गरीब लोगों को लाभ प्राप्त होगा|
  • महिलाओं को सहायता :- वित्त मंत्री जी ने जन धन योजना के तहत 20 करोड़ महिलाओं के जन धन खाते में 3 महीने के लिए 5 – 5 सौ रूपये प्रतिमाह जमा करने का भी ऐलान किया है|
  • उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों को मुफ्त सिलिंडर :- प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 8.3 करोड़ गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवारों को सरकार 3 महीने के लिए मुफ्त में सिलिंडर प्रदान करेगी|
  • स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कोलैटरल फ्री लोन :- ऐसी महिलाएं जो कि स्वयं सहायता समूह से संबंध रखती हैं, वे तत्काल प्रभाव से 10 लाख के स्थान पर 20 लाख रूपये तक का कोलैटरल फ्री लोन ले सकती हैं| इससे 7 करोड़ परिवारों पर प्रभाव पड़ेगा|
  • संगठित एवं निर्माण क्षेत्र के कर्मचारियों के लिए ईपीएफ अंशदान :- केंद्र सरकार अब नियोक्ता एवं कर्मचारी दोनों के लिए ईपीएफ योगदान का भुगतान करेगी| इसके अलावा ऐसे कर्मचारी जो कि एक महीने में 1500 रूपये से भी कम की कमाई करते हैं, उन्हें 90 % दिया जायेगा| इस योजना के रेगुलेशन में यह संशोधन किया जा रहा है, कि इसमें 75 % राशि की नॉन – रिफंडेबल योग्य एडवांस्ड राशि, यानि 3 महीने की मजदूरी की देने अनुमति दी जा रही हैं|
  • सरकार के संविदा कर्मचारियों को पूर्ण वेतन :- इस राहत पैकेज में यह भी घोषणा की गई है कि परिधान (अपैरल) निर्यात के लिए केंद्र और राज्य टैक्स सब्सिडी जारी रहेगी| कोरोना वायरस के चलते होने वाली परेशानी के बाद भी सरकार के संविदा कर्मचारियों को पूर्ण वेतन का भुगतान किया जायेगा|
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का रिकैपिटलाइजेशन :- सीसीईए ने 1340 करोड़ रूपये के साथ क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के रिकैपिटलाइजेशन को मंजूरी दी है| जिसके तहत 670 करोड़ रूपये केंद्र सरकार द्वारा दिया जायेगा और बाकी के 670 रूपये विभिन्न बैंकों द्वारा एकत्र किये जायेंगे| बैंकों के इस रिकैपिटलाइजेशन से उनकि पूँजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) में सुधार होगा|

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की कुछ मुख्य विशेष बातें

योजना का लाभ
राशि                                                                      लाभ
राशन कार्डधारक (80 करोड़ लोग)-अतिरिक्त रूप से 5 किलो राशन मुफ्त
को

योद्धा (डॉक्टर, नर्स, स्टाफ)- 50 लाख का बीमा

किसान (पीएम किसान योजना में पंजीकृत)-2000 / – (अप्रैल प्रथम सप्ताह में)

जन धन खाताधारक (महिला) -500 / – अगले तीन महीने
वि

गरीब नागरिक, विकलांग, वरिष्ठ नागरिक-1000 / – (अगले तीन महीने के लिए)

उज्जवला योजना-अगले तीन महीने तक सिलेंडर फ्री
स्व

सहायता समूहों को-10 लाख अतिरिक्त ऋण मिलेगा
नि

मजदूर-उनके लिए 31000 Cr Fund का उपयोग किया जाएगा
ईपीएफ (EPF)-अगले तीन महीने के लिए सरकार द्वारा 24% (12% + 12%) का भुगतान किया जाएगा

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • राशन कार्ड :-इस योजना के तहत गरीबों को राशन प्राप्त करने के लिए राशन कार्ड साथ में लेकर जाना होगा.
  • पहचान के लिए आवश्यक दस्तावेज :-इस योजना में लाभार्थियों को अपनी पहचान के लिए अपना आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस एवं पासपोर्ट आदि में से किसी भी दस्तावेज की आवश्यकता पड़ सकती हैं|
  • आयु प्रमाण पत्र :-इस योजना में पेंशन धारकों को सहायता दी जा रही हैं, इसलिए आवेदक को अपने आयु प्रमाण पत्र की भी आवश्यकता पड़ सकती हैं|
  • जन धन खाते की पासबुक :-इस योजना में महिलाओं को अपने जन धन खाते से पैसे निकालने के लिए अपने साथ अपने जन धन खाते की पासबुक रखने की भी आवश्यकता होगी|
  • मनरेगा कार्ड :-मनरेगा के मजदूरों की आय में वृद्धि की जा रही हैं इसका लाभ लेते समय लाभार्थी के पास उनका मनरेगा कार्ड होना आवश्यक हो सकता है|

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

इस योजना के तहत दिए जाने वाले सभी वित्तीय लाभ लाभार्थियों को सीधे उनके बैंक खाते में दिए जायेंगे, जिसे वे आवश्यक दस्तावेज दिखा कर बैंक से प्राप्त कर सकते हैं| इसके अलावा अनाज का लाभ उन्हें सीधे ही राशन की दूकान में राशन कार्ड का इस्तेमाल करके दे दिया जायेगा| अतः इस योजना का लाभ उठाने के लिए उन्हें किसी भी प्रकार के आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है|

सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वेसन्तु निरामया| सर्वे भद्राणी पश्यंतु मा कश्चित दु:खभाग भवेत||अर्थात सभी सुखी होवें, सभी रोगमुक्त रहें, सभी मंगलमय घटनाओं के साक्षी बनें, और किसी को भी दुःख का भागी न बनना पड़े|

आज के इस अशांति भरे वातावरण में जहाँ हर कोई परेशान है| हर किसी को कोई न कोई तकलीफ अवश्य हैं|ऐसे में आइये मिलकर सबके कल्याण के लिए ईश्वर से प्रार्थना करे| कहते हैं कि एक स्वर में की गयी प्रार्थना में बहुत शक्ति होती है | एक स्वर में हम ऊपर वाले को याद करेंगे तो वह जरुर सुनेगा|

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) से कैसे लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here