प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY) से कैसे लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं?

1
343
Pmkvy

According to Prime Minister Narendra Modi, skilled youth can build a better India, we can move towards development, therefore, Skill India should be our mission to move the country forward. Prime Minister Narendra Modi has launched the Prime Minister Skill Development Scheme to fulfill this objective.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार कुशल युवा एक बेहतर भारत का निर्माण कर सकते है, हम विकास की ओर आगे बढ़ सकते हैं इसलिए देश को आगे बढ़ाने के लिये कौशल भारत हमारा मिशन होना चाहिए। इस उद्येश की पूर्ति के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की शुरुआत किया हैं|

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना भारत के युवाओ के लिए एक नई शुरुआत है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू इस रोजगार योजनां का उद्देश्य देश के हर युवा को आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाना है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य युवाओं को प्रोत्साहित करना और आज के बेरोजगार लोगों के कौशल विकास को बढ़ाना है।

PMKVY में कौशल शब्द युवाओ के उस कौशल को दर्शाता है जो उन्हें वर्तमान की नई तकनीको से अवगत करता है जिनके माध्यम से वह नए तरीको को सीखे और उन्हें रोजगार के अवसर प्राप्त हो | इसके अलावा PMKVY के तहत प्रशिक्षित लोगों को पुरस्कृत किया जाएगा, मूल्यांकन (नौकरी आधारित) और कई पाठ्यक्रमो के साथ उपलब्ध इस योजना को कुशल प्रशिक्षको के द्वारा चलाया जाएगा |

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत ऐसे युवाओं को लाभ मिलेगा जो दसवीं और बारहवीं करके पढ़ाई छोड़ चुके हैं| और उनके पास आगे कोई भी रोजगार नहीं है |कुछ युवा गरीबी के कारण या किसी अन्य कारण से पढ़ाई छोड़ देते हैं ऐसे युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना आगे लेकर आएगी ताकि ऐसे युवाओं को ट्रेनिंग दी जाए और उनको रोजगार में मदद की जाए| ट्रेनिंग देने के बाद इन युवाओं को सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे ताकि आगे रोजगार प्राप्त करने में यह उनकी सहायता करें|

इसके मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

· गरीबी के कारण जो बच्चे उच्च शिक्षा प्राप्त करने से वंचित रह जाते हैं उनके अन्दर छिपे कौशल को विकसित करना।

· योजनाबद्ध तरीके से गरीबों और गरीब नौजवानों को संगठित करके उनके कौशल को सही दिशा में प्रशिक्षित करके      गरीबी का उन्मूलन करना।

· सभी राज्यों और संघ राज्यों को संगठित करके आई.आई.टी. की इकाईयों के माध्यम से दुनिया में स्वंय को स्थापित    करना।

· आने वाले दशकों में पूरी दुनिया में कार्यकुशल जनसंख्या की आवश्यकता को पूरी करने के लिये विश्व के रोजगार बाजार का अध्ययन करके उसके अनुसार देश के युवाओं को प्रत्येक क्षेत्र में आज से ही कुशल बनाना।

· देश के युवा जिस कौशल (जैसे: गाड़ी चलाना, कपड़े सिलना, अच्छी तरह से खाना बनाना, साफ-सफाई करना, मकैनिक का काम करना, बाल काटना, आदि) को परंपरागत रुप से जानते हैं, उसके उस कौशल को और निखारकर व प्रशिक्षित करके उस व्यक्ति के कौशल को सरकार द्वारा मान्यता प्रदान करना।

· कौशल विकास के साथ उद्यमिता और मूल्य संवर्धन को बढ़ावा देना।

· सभी तकनीकी संस्थाओं को विश्व में बदलती तकनीकी के अनुसार गतिशील बनाना।

योजना की पात्रता :

दोस्तों आप सभी आप सभी आप सभी सोच रहे होंगे कौशल विकास योजना के बारे में तो पता चल गया परंतु इस में हिस्सा लेने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?
हम आपको बता रहे हैं ध्यान से पढ़ें :

. कौशल विकास योजना में हिस्सा लेने के लिए युवा बेरोजगार होना चाहिए |
. इस योजना के अंतर्गत 10वीं से लेकर ग्रेजुएट तक के सभी बेरोजगारों को प्रशिक्षित किया जाएगा|
. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अनुसार युवा भारत का रहने वाला होना चाहिए |उसकी छवि बिल्कुल स्वच्छ होनी चाहिए|

समय अवधि:

. PMKVY – के तहत भारत सरकार ने साल 2016 से 2020 तक के लिए समय अनुमोदित किया गया है।
. PMKVY समय की उस अवधि तक 10 लाख से अधिक लोगो को रोजगार का लाभ दिया जाएगा।

आवंटित बजट:

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के लिए बजट के रूप में 12,000 करोड़ तक रूपये खर्च किया जाएँगे।
कौशल विकास मंत्रालय और उद्यमिता : इस योजना और इस पाठ्यक्रम के तहत पहले सीखना तथा पुनर्गठन प्रदान किया जाएगा| राष्ट्रीय कौशल विकास निगम इस योजना के लिए कार्यरत संस्था है।
योजना के प्रमुख घटक:
. छोटी अवधि का प्रशिक्षण – 60 लाख छात्रों के लिए अवसर प्रदान करने, प्रशिक्षित मूल्यांकन और प्रमाणित करने के लिए।
. पहले सीखने की मान्यता – NSQF साथ व्यक्तिगत रूप से 40 लाख की दक्षता पंक्तिबद्ध है।
. विशेष परियोजनाए – विशेष क्षेत्रों और सरकारी निकायों और कंपनियों के परिसर में प्रशिक्षण की सुविधा होगी।
. कौशल और रोजगार मेला- योजना को व्यापक और सफलता सुनिश्चित करने के लिए प्रशिक्षण संसथान द्वारा हर छह महीने में कौशल और रोजगार मेला आयोजित किया जाएगा।
. योग्यता आकांक्षा – PMAKY उम्मीदवारों के ज्ञान के संभावित नियोक्ताओं को जोड़ने के लिए।
. लगातार मॉनिटरिंग – तकनीकी ड्राइविंग के तरीके का उपयोग उच्च मानक गुणवत्ता प्रशिक्षण केन्द्रों द्वारा बनाए रखने के लिए सुनिश्चित करना है।
. मानकीकृत ब्रांडिंग और संचार – जमीन के आधार पर महान दृश्यता और इस योजना का संचार का आश्वासन सुनिश्चित करना।

योजना में सम्मिलित पाठ्यक्रम की सूची

· टेलीकॉम कोर्स
· सिक्योरिटी सर्विस कोर्स
· सुंदरता तथा वैलनेस
· मोटर वाहन कोर्स
· परिधान कोर्स
· कृषि कोर्स
· रबर कोर्स
· रिटेल कोर्स
· पावर इंडस्ट्री कोर्स
· प्लंबिंग कोर्स
· माइनिंग कोर्स
· लीठेर कोर्स
· आईटी कोर्स
· ग्रीन जॉब्स कोर्स
· जेम्स तथा ज्वेलरी कोर्स
· फर्नीचर तथा फिटिंग कोर्स
· फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री कोर्स
· इलेक्ट्रॉनिक्स कोर्स
· आयरन तथा स्टील कोर्स
· भूमिकारूप व्यवस्था कोर्स
· स्वास्थ्य देखभाल कोर्स
· निर्माण कोर्स
· माल तथा पूंजी कोर्स
· बीमा, बैंकिंग तथा फाइनेंस कोर्स

आवेदन कैसे करे :

· कौशल विकास ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस वेबसाइट पर क्लिक करें। http://pmkvyofficial.org

· वेबसाइट के होम पेज पर आपको skill India का option मिलेगा यहाँ आपको क्लिक कर देना है।

· यहां आपको Registration As a Conciliated का Option मिलेगा उस पर क्लिक कर देना है।

फिर एक आवेदन पत्र मिलेगा जिसे भरकर आपको भेजना है |

कौशल विकास योजना के लाभ:

(1) उत्पादकता में वृद्धि
(2) भारत मे गरीबी खत्म करने में सहायक
(3) भारत मे बड़ी हुई योग्यता को बढ़ावा देना
(4) राष्ट्रीय आय के साथ-साथ प्रति व्यक्ति आय में व्रद्धि
(5) लोगो की जीवन निर्वाह आय में व्रद्धि
(6) भारतीयों की जीवन स्तर में सुधार

योजना की विशेषता:

(1) इस योजना के तहत कराई जाने वालू सभी तरह की ट्रेनिंग बहुत ही संजिदगी से कराई जाएगी।विभिन्न क्षेत्रों में ट्रेनिंग प्राप्त करने के लिए विभिन्न योग्यताओं की आवश्यकता होंगी| अतः किसी भी तकनीकी क्षेत्र में प्रशिक्षण लेने से पहले योग्यता की जांच की जाएगी।
(2) सभी ट्रेनिंग प्रोग्राम का निर्वाहन सेक्टर स्किल कौंसिल यानी एसएससी द्वारा किया जाएगा। इस कौंसिल के अंतर्गत प्रशिक्षित करने वाले सभी लोग एनओएस ओर क्यूपिएस के नियमों का निर्वहन करेंगे।
(3) इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार के विभिन्न योजनाओं में आवश्यक कार्यकर्ताओं को देखते हुए प्रशिक्षण दिया जाएगा।प्रशिक्षण के बाद युवाओं को विभिन्न सरकारी योजनाएं जैसे मेक इन इंडिया योजना, डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट, स्वच्छ भारत अभियान आदि के अंतर्गत नौकरी दी जाएगी।
(4) एक बार प्रशिक्षण खत्म हो जाने पर प्रशिक्षित युवाओं को रु.8000 ओर कोर्स कम्पलीट सर्टिफिकेट दिया जाएगा।
(5) इस योजना की एक विशेष बात यह है कि इस योजना का ब्रांड एंबेसडर भारतीय युवाओं के लिए महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर को चुना गया है।

भारत दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश हैं और यहाँ के युवक इस देश की ताकत हैं| इसलिए भारत के लिए सबसे पहले अगर कोई प्राथमिकता है, तो देश के नौजवानों के लिए रोजगार उपलब्ध कराना है।
हमें युवा शक्ति की सकारात्मक ऊर्जा का संतुलित उपयोग करना होगा। कहते हैं कि युवा वायु के समान होता है। जब वायु पुरवाई के रूप में धीरे-धीरे चलती है तो सबको अच्छी लगती है। हमें इस पुरवाई का उपयोग विज्ञान, तकनीक, शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में करना होगा। यदि हम इस युवा शक्ति का सकारात्मक उपयोग करेंगे तो विश्व गुरु ही नहीं, अपितु विश्व का निर्माण करने वाले विश्वकर्मा के रूप में भी जाने जाएंगे।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here